Saturday, April 12, 2014

TEACHERS KI KAMI PAR SUPREME COURT NARAAJ

नई दिल्ली। देशभर के स्कूलों में शिक्षकों और संसाधनों की कमी के चलते शिक्षा के अधिकार कानून (आरटीई) के उल्लंघन के आरोप पर सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को केंद्र व सभी राज्य सरकारों से जवाब तलब किया। सर्वोच्च अदालत में दायर याचिका में इस कानून पर सही तरीके से अमल कराने के लिए सरकारों को निर्देश जारी करने की मांग की गई है। चीफ जस्टिस पी. सदाशिवम की अध्यक्षता वाली पीठ ने केंद्र, राज्य व केंद्र शासित प्रदेशों को नोटिस जारी कर ग्रीष्मावकाश के बाद जवाब दाखिल करने को कहा है। याचिका नेशनल कोलीशन फॉर एजुकेशन संगठन ने दायर की है। याचिका में कहा गया है कि संसाधनों की कमी और आरटीई के प्रावधानों को लागू करने में विफलता के कारण शिक्षा के क्षेत्र में काफी गिरावट आई है। पीठ के समक्ष वरिष्ठ अधिवक्ता कोलिन गोंसाविस ने सभी राज्यों को छह महीने के भीतर दूर-दराज के इलाकों

Tuesday, April 8, 2014

JAB TAK SYAHI NA SUKHE VOTER BAHAR NA JAA PAYE

कैथलत्न जिला निर्वाचन अधिकारी एनके सोलंकी ने कहा है कि राज्य निर्वाचन विभाग ने फर्जी वोटिंग रोकने के लिए कमर कस ली है। सभी पीठासीन अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि मतदान के दौरान कोई ढील न बरती जाए।
उन्होंने कहा कि मतदान के दौरान पीठासीन अधिकारियों द्वारा मतदाताओं की जांच पड़ताल गहनता से हो, पहचान पत्र या अन्य साक्ष्य होने पर ही वोट डालने दिया जाए। साथ ही यह भी सुनिश्चित किया जाए कि कोई भी मतदाता मतदान करने से पहले अंगुली पर लगी अमिट स्याही को मिटा न सके। निर्देशानुसार मतदाता को मतदान केंद्र तभी छोडऩे दिया जाए, जब उसकी अंगुली की स्याही पूरी तरह सूख गई हो।

यादें बचपन की :TAKEN FROM FB


Ek hi color ka dress pehen kar hum lagte they kitne achay,
School lagta tha poultry farm aur hum sab murghi k bachay,
Mujhko samaj na aya aj tak teacher ka yeh funda,
Hume bana deti thi murgha or khud copy pe deti thi anda.
Jab bachpan tha ,
to jawani ek sapna tha..
Jab jawan huye ,
to bachpan ek zamaana tha.
jab ghar mein rehte the,
aazadi achi lagti thi ..

NEXT THREE MONTH HAI COMPITION EXAM KE

इसलिए जरूरी है अपनी बेहतर तैयारी 
यही कारण है कि विद्यार्थियों को अब बोर्ड के रिजल्ट के इंतजार के साथ उन्हें इन एग्जाम के लिए भी अधिक मेहनत करनी होगी। अप्रैल से यूपीएससी, आईआईटी-जेईई, एआईपीएमटी, यूजीसी-नेट जैसे बड़े लेवल के एग्जाम की शुरुआत होगी। वहीं बैंक और एलआईसी भी इस महीने से ही विभिन्न पदों पर रिक्रूटमेंट के लिए एग्जाम के ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया शुरू करेंगे। स्टूडेंट्स के लिए सभी संस्थानों ने नोटिफिकेशन जारी कर दिए हैं। इस महीने से एग्जाम ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही मोड में होंगे।
भले ही अभी कक्षा 12वीं का परिणाम घोषित नहीं हुआ है, लेकिन प्रवेश परीक्षा के माध्यम से भविष्य संवारने का सिलसिला शुरू हो गया है। रविवार को भावी इंजीनियरों ने जेईई मेन की परीक्षा देकर इंजीनियर बनने के लिए प्रवेश परीक्षा दी। अब अगले महीने तक कोई न कोई प्रवेश परीक्षा होगी।
इसमें अपनी रुचि को बेहतर ज्ञान में तब्दील कर विद्यार्थी अपने भविष्य की राह आसान कर सकेंगे। विद्यार्थियों को इन तीन

APRIL,MAY KI MDM RASHI JAARI

फतेहाबाद। अब सरकारी स्कूल के बच्चे उधार का खाना नहीं खाएंगे। जी हां, हम मिड-डे-मील की बात कर रहे हैं। अब तक मिड-डे-मील के लिए स्कूल प्रबंधन द्वारा दुकानाें से उधार राशन मंगवाया जाता था लेकिन अब स्थिति सुधरने वाली है।
शिक्षा विभाग ने स्कूलों में मिड-डे-मील के लिए दो माह के लिए अग्रिम धनराशि जारी कर दी है। हालांकि जिले में कितना बजट जारी हुआ है इसकी आधिकारिक जानकारी अभी नहीं मिली है लेकिन सभी स्कूल प्रबंधनों के खाते में अप्रैल और मई माह के मिड-डे-मील के लिए राशन की धनराशि डाल दी गई है।
शिक्षा विभाग ने मिड-डे-मील के लिए जारी की पहली बार अग्रिम धनराशि
अप्रैल और मई माह के लिए धनराशि आवंटित
स्कूल प्रबंधनों ने ली राहत की सांस
जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी डॉ.यज्ञदत्त वर्मा का कहना है कि इस बार दो माह का बजट जारी कर दिया गया है। सभी स्कूल प्रबंधनों के खाते में डाल दिया गया है। उन्हें विद्यार्थियों को बेहतर भोजन उपलब्ध कराने के साथ किताबें भी मुहैया करा दी गई हैं।